Posts

चंद्रयान-3

Image
 "चंद्रयान-3 चंद्रमा पर पहुंचता है" चंद्रयान-3, भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के द्वारा चलाए जा रहे अंतरिक्ष मिशन का तीसरा चरण है, जिसने वैज्ञानिकों और भारतीय अंतरिक्ष उद्योग के लिए नये दरवाजे खोले हैं। चंद्रयान-3 का लक्ष्य है चंद्रमा की सतह पर विस्तारित अनुसंधान करना और उसमें और भी गहराईयों तक जाकर जानकारी हासिल करना। चंद्रयान-3 का मुख्य उद्देश्य चंद्रमा की दक्षिणी हेमिस्फियर में एक क्रैटर में जाने की कोशिश करना है, जिसे संस्कृत में "गागनयान" कहा जाता है। यह चरण भारत के अंतरिक्ष अनुसंधान में एक महत्वपूर्ण कदम है, क्योंकि यह चंद्रमा की उस क्षेत्र की खोज करेगा जो अब तक अनगिनत रहस्यों से भरपूर है। चंद्रयान-3 का पूरा मिशन तब तक पूरा नहीं होता जब तक कि यह सफलतापूर्वक चंद्रमा की सतह पर नहीं पहुंचता। यह चंद्रमा के कई वैज्ञानिक पहलुओं को अनुसंधान करेगा, जैसे कि उसकी भूमिका और अर्थ के लिए संवेदनशीलता, चंद्रमा पर जल और ऊर्जा संसाधनों की खोज, और उसकी तकनीकी और तकनीकी संवर्गीकरण की संभावनाएं। इसरो की टीम ने चंद्रयान-3 के मिशन की तैयारियों में विशेष ध्यान दि

टीचर्स ऑफ बिहार ने श्रीनिवास रामानुजन टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स 2022 से संबंधित विषय पर जागरूकता हेतु आयोजित किया सवाल आपके-जवाब हमारे एक्सक्लूसिव टॉक शो।

Image
  टीचर्स ऑफ बिहार ने श्रीनिवास रामानुजन टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स 2022 से संबंधित विषय पर जागरूकता हेतु आयोजित किया सवाल आपके-जवाब हमारे एक्सक्लूसिव टॉक शो। टीचर्स ऑफ बिहार के द्वारा आयोजित एक्सक्लूसिव टॉक शो सवाल आपके, जवाब हमारे में शामिल हुए शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह। बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार ने श्रीनिवास रामानुजन टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स 2022 से संबंधित विषय पर जागरूकता हेतु सवाल आपके-जवाब हमारे एक्सक्लूसिव टॉक शो का आयोजन ऑनलाइन फेसबुक लाइव के माध्यम से आयोजित किया। जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में दीपक कुमार सिंह, भा.प्र.से. अपर मुख्य सचिव, शिक्षा विभाग, प्रो. (डॉ.) के.सी. सिन्हा, कुलपति, नालंदा ओपन यूनिवर्सिटी, डॉ. अनंत कुमार, प्रोजेक्ट निदेशक, बिहार कौंसिल ऑन साइंस एंड टेक्नोलॉजी, पटना, डॉ. विजय कुमार, संयोजक-सह-कार्यकारी संयुक्त सचिव, बिहार मैथमेटिकल सोसाइटी शामिल हुए। ऑनलाइन टॉक शो सवाल आपके जवाब हमारे को संबोधित करते हुए शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव दीपक कुमार सिंह ने कहा कि बिहार के बच्चों में प्रतिभाओं

टीचर्स ऑफ बिहार का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू ऐप हुआ 25 हज़ार के पार।

Image
  बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार के विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की तरह ही कू ऐप भी शिक्षकों में बेहद लोकप्रिय हो रहा है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इस स्वदेशी कू ऐप में विगत चार माह में पच्चीस हज़ार से भी अधिक बिहार के सरकारी विद्यालयों के शिक्षक जुड़कर अपने विद्यालयों में हो रहे नवाचारी गतिविधि को साझा कर रहे हैं।        यह जानकारी देते हुए टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश प्रवक्ता सह कू ऐप मॉडरेटर अररिया जिले के फारबिसगंज प्रखंड स्थित प्राथमिक विद्यालय छुरछुरिया के शिक्षक रंजेश कुमार ने कहा कि कू ऐप का इंटरफ़ेस भी ट्विटर के समान ही है, जिससे उपयोगकर्ता अपने पोस्ट को हैशटैग के साथ वर्गीकृत कर सकते हैं और अन्य उपयोगकर्ताओं को उल्लेख या उत्तरों में टैग कर सकते हैं। वहीं प्रदेश मीडिया संयोजक मृत्युंजय ठाकुर ने बताया कि कू पीले और सफेद इंटरफेस का उपयोग करता है। 4 मई 2021 को कू ने टॉक टू टाइप नामक एक नया फीचर पेश किया, जो अपने उपयोगकर्ताओं को ऐप के वॉयस असिस्टेंट के साथ एक पोस्ट बनाने की अनुमति देता है। श्री ठाकुर ने सभी से निवेदन पूर्वक

भारतीय भाषाएँ श्रेष्ठ ज्ञानार्जन की अचूक राहें: चंदन श्रीवास्तव

Image
भारतीय भाषा समिति, शिक्षा मंत्रालय, भारत सरकार तथा मैत्रेय कॉलेज ऑफ एजुकेशन एण्ड मैनेजमेंट हाजीपुर के संयुक्त तत्वावधान में भारतीय भाषाओं में विद्यालयी शिक्षा तथा बहुभाषी शिक्षक का निर्माण विषयक दो दिवसीय संगोष्ठी का आयोजन दिनांक 13-14 नवम्बर 2022, रविवार एवं सोमवार को किया जा रहा है। भारतीय भाषाओं में विद्यालयी इस संगोष्ठी का उद्घाटन मुख्य अतिथि डॉ. विनोदानन्द झा, पूर्व निदेशक, शोध एवं प्रशिक्षण, शिक्षा विभाग, बिहार सरकार, पटना, उद्घाटन सत्र के अध्यक्ष श्री नागेंद्र नाथ, पूर्व निदेशक, एस.सी.ई.आर.टी., पटना, बिहार, विषय विशेषज्ञ डॉ. धनंजय धीरज, विभागाध्यक्ष, शिक्षाशास्त्र विभाग, गया कॉलेज, गया, विषय विशेषज्ञ डॉ. सुबोध कुमार झा, विभागाध्यक्ष, अँग्रेजी विभाग, एस.एन. सिन्हा कॉलेज, जहानाबाद, प्रो. निरंजन सहाय, विभागाध्यक्ष, हिन्दी विभाग, महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ, वाराणसी, डॉ. सूर्य कुमार झा, पूर्व प्राचार्य, राजकीय शिक्षक-प्रशिक्षण महाविद्यालय, जय प्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा, डॉ. सुजीत द्विवेदी, विभागाध्यक्ष, शिक्षा विभाग (बी.एड.), बी.एस.ए. कॉलेज बहेरी, दरभंगा, डॉ. इम्तियाज़ आलम, प्राचार्

टीचर्स ऑफ बिहार का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू ऐप हुआ बीस हज़ार के पार।

Image
  बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार के विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की तरह ही कू ऐप भी शिक्षकों में बेहद लोकप्रिय हो रहा है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इस स्वदेशी कू ऐप में विगत चार माह में 20 हज़ार से भी अधिक बिहार के सरकारी विद्यालयों के शिक्षक जुड़कर अपने विद्यालयों में हो रहे नवाचारी गतिविधि को साझा कर रहे हैं।  यह जानकारी देते हुए टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश प्रवक्ता सह अररिया जिले के फारबिसगंज प्रखंड स्थित प्राथमिक विद्यालय छुरछुरिया के शिक्षक रंजेश कुमार ने कहा कि कू ऐप का इंटरफ़ेस भी ट्विटर के समान ही है, जिससे उपयोगकर्ता अपने पोस्ट को हैशटैग के साथ वर्गीकृत कर सकते हैं और अन्य उपयोगकर्ताओं को उल्लेख या उत्तरों में टैग कर सकते हैं।   वहीं प्रदेश मीडिया संयोजक मृत्युंजय ठाकुर ने बताया कि कू पीले और सफेद इंटरफेस का उपयोग करता है। 4 मई 2021 को कू ने टॉक टू टाइप नामक एक नया फीचर पेश किया, जो अपने उपयोगकर्ताओं को ऐप के वॉयस असिस्टेंट के साथ एक पोस्ट बनाने की अनुमति देता है। श्री ठाकुर ने सभी से निवेदन करते हुए कहा कि आइये हम सभी

माननीय विधायक डॉक्टर श्री मुकेश रोशन जी के निर्देशन में संचालित रक्तदान महादान सेवा संस्थान के द्वारा बचाया गया एक बहुमूल्य जीवन

Image
 एक बार पुणः कल दिनांक 13/10/2022 को रक्त दान महादान सेवा संस्थान ने मानवीय संवेदनाओं के लिए उत्कृष्ट कार्य जारी रखा। माननीय यशस्वी विधायक डॉ मुकेश रोशन जी के नेतृत्व में संचालित रक्तदान महादान सेवा संस्थान  (वैशाली) बिहार  के द्वारा एक असहाय व्यक्ति को ब्लड उपलब्ध कराया गया जिसकी सूचना उनके संस्थान के सदस्यो के द्वारा उनतक पंहुचाई गई कि सोनू जी पिता पूर्व सरपंच शंकर राय  (ग्राम सलाह, प्रखंड सहदेई बुजुर्ग ,जिला वैशाली )12/10/2022 को दुर्घटना घटित हो गया था जो पटना के उदयन हॉस्पिटल में भर्ती हैं इसी क्रम में कई लोगों का कॉल आया जैसे संजीव जी, बबलू जी, श्याम जी, इत्यादि ,सभी लोग द्वारा जानकारी मिली की A - रक्त की आवश्यकता है संस्था के द्वारा दीनानाथ जी पिता जय नाथ साह (ग्राम मनुआ, प्रखंड हाजीपुर ,जिला वैशाली) के द्वारा रक्तदान कर एक अनमोल जीवन के रक्षा करने का प्रयास किया गया। ज्ञात हो कि उक्त व्यक्ति को दिया जाने वाला ब्लड उन्हें उपलब्ध कराने में  उनके परिवार एवं स्वजनों को काफी परेशानी का सामना करना पर रहा था । किंतु बाद में लोकल न्यूज नेटवर्क के माध्यम से एवम संस्था के सक्रिय सदस्यो क

रक्तदान महादान सेवा संस्थान के विस्तार के लिए किए बैठक

Image
 रक्तदान महादान सेवा संस्थान के विस्तार के लिए अपने सहयोगी कार्यकर्ताओं के साथ राजद के महुआ विधायक माननीय श्री डॉक्टर मुकेश रोशन जी विचार विमर्श कर उन्हे भरपूर मदद का भरोसा दिया है । उनके मार्गदर्शन में वैशाली के युवाओं के द्वारा लगातार रक्तदान कार्यक्रम कर लाभुको को उपलब्ध कराते रहे है जिससे इस संस्था का दायरा बढ़ने के साथ ही जरूरतमंद लोगों की उम्मीदें भी बढ़ती जा रही हैं। इसी संदर्भ में कार्यकर्ताओं संग बैठक कर उन्होंने उन्हें यह भरोसा दिलाया है की इस मानव कल्याण कार्य हेतु उनके और उनकी सरकार की तरफ से हर संभव मदद मिलेगी।  अभी तक सैंकड़ों युवाओं ने रक्त दान महादान सेवा संस्थान के माध्यम से रक्तदान किया है जिससे कई व्यक्तियों की जिंदगी बचाई जा सकी है । इस समाज सेवी संस्था के माध्यम से समाज में मानवीय संवेदनाओं के लिए उत्कृष्ट कार्य करने की जो प्रेरणा मिली है उससे मानवता की रक्षा के लिए बहुमूल्य ही माना जा सकता हैं। मालूम हो की वैशाली के युवाओं द्वारा संचालित रक्तदान महादान सेवा संस्थान के माध्यम से लगातार जरूरत मंदो को रक्त की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा रहा हैं जिसमे अब उन्हें राजद के

रक्तदान महादान सेवा संस्थान के द्वारा कराया गया रक्तदान

Image
 रक्तदान महादान सेवा संस्थान के द्वारा लगातार उत्कृष्ट कार्यों क फेहरिस्त लंबी होती जा रही है। आए दिन वैशाली के युवाओं के द्वारा शुरू किया गया रक्तदान सेवा संस्थान के द्वारा जरूरतमंदों को रक्त की उपलब्धता कराई जाती हैं। जिससे मानवता की रक्षा होने के साथ-साथ समाज के प्रबुद्ध वर्गों को एक सकारात्मक संदेश पहुंचाई जाती है जिससे आने वाले पीढ़ी के लिए प्रेरणा मिलती हैं।  मानवता की भलाई में तुम भी करो योगदान, सिर्फ कायर डरते हैं, वीर करते हैं रक्तदान. एक बार पुणः आज दिनांक 10/10/2022 को रक्त दान महादान सेवा संस्थान ने मानवीय संवेदनाओं के लिए उत्कृष्ट कार्य जारी रखा। संस्था बहुत जल्द अपनी हेल्पलाइन जारी करेगी जिसके द्वारा जरूरतमंद मदद के लिए संपर्क कर पाएंगे एवं ऐसे जागरूक युवा जो समाज में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते हुए परोपकार के भागी बनेंगे उन्हें भी हेल्पलाइन से काफी मदद मिलेगी।                मालूम हो की प्रवीण कुमार जी के मामा जी उदय कुमार राय , (ग्राम मोरवा ताजपुर, प्रखंड ताजपुर, जिला समस्तीपुर ), कुछ दिन पहले दुर्घटना घटित हो गया था, जो पटना फोर्ड हॉस्पिटल मैं भर्ती है । इसी क्रम अन्धरवार

टीचर्स ऑफ बिहार के द्वारा साइबर सुरक्षा और जागरूकता विषय पर आयोजित लेट्स टॉक में शामिल हुए साइबर क्राइम एवं आर्थिक अपराध इकाई बिहार के पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार।

Image
  गृह मंत्रालय एवं स्कूल शिक्षा एवं साक्षरता विभाग, शिक्षा मंत्रालय के द्वारा निर्गत पत्र के आलोक में समन्वित और व्यापक तरीके से साइबर अपराधों से निपटने के लिए भारतीय साइबर अपराध समन्वय केंद्र (l4C) योजना को लागू कर रहा है। इसको लेकर स्कूलों और कॉलेजों के छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों के बीच जागरूकता पैदा करने के लिए साइबर जागरूकता दिवस 6 अक्टूबर से हर महीने के पहले बुधवार को सभी स्कूल, कॉलेजों और विश्वविद्यालयों में मनाया जाना प्रस्तावित है। सीआईईटी एवं एनसीईआरटी ने भी छात्रों के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए साइबर सुरक्षा पर कार्यक्रम आयोजित करने पर बल दिया है। इसके लिए एससीईआरटी पटना के द्वारा सभी जिलों को इससे संबंधित पत्र प्रेषित किया गया है। इसके अंतर्गत कई कार्यक्रम आयोजित करने की बात कही गई है। इसी उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार के फाउंडर शिव कुमार ने साइबर जागरूकता अभियान के रूप में 'साइबर मंत्र'- साइबर शिक्षा से साइबर सुरक्षा नाम से मुहिम की शुरुआत की है। इसी क्रम में शनिवार को साइबर सुरक्षा और जागरूकता विषय

बिहार के सरकारी विद्यालयों की उन्नति के लिए विगत 3 वर्षों से निशुल्क एवं निस्वार्थ सेवा भाव से कार्य कर रही है टीचर्स ऑफ बिहार।

Image
  बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार शिक्षको द्वारा, शिक्षकों के लिए, शिक्षकों का एक ऐसा अभिनव मंच है जो शिक्षा से जुड़े सभी हिताधिकारियों के द्वारा किये जा रहे शैक्षिक प्रयासों को साझा करने, नवाचारों से सीखने और लागू करने का अवसर और पहचान प्रदान करता है। इस अभिनव मंच की कल्पना आज से तीन वर्ष पूर्व इसके फाउंडर पटना जिले के शिक्षक शिव कुमार ने की थी। आज इस मंच से लाखों शिक्षक एवं शिक्षिकाएं फेसबुक ग्रुप एवं कुटुंब ऐप एवं अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के माध्यम से जुड़कर सीधे अपने विद्यालयों में आयोजित नवाचारी गतिविधि को साझा करते हैं। जिसमें से उत्कृष्ट फोटोज एवं विडियोज का चयन फोटो ऑफ द डे एवं 'वीडियो ऑफ द डे' एवं एक्टीविटी ऑफ द डे के रूप में टीम के मॉडरेटर के द्वारा ट्वीटर, लिंकडिन, इंस्टाग्राम, टेलीग्राम, यूट्यूब, व्हाट्सएप, कू ऐप पर साझा किया जाता है।  टीचर्स ऑफ बिहार के मंच से जुड़े शिक्षकों की साहित्यिक रचनाओं को गद्य गुंजन, पद्य पंकज एवं ब्लॉग्स के माध्यम से वेबसाइट पर प्रकाशित की जाती है। जिससे अन्य विद्यालय के शिक्षक एवं शिक्षिकाएं भी लाभान्वित

वैशाली जिला के अधिकारियों का तानाशाही फरमान

Image
  राघोपुर चारों ओर से नदी से घिरा क्षेत्र है।बाढ इस क्षेत्र की बहुत बडी समस्या है । ऐसी स्थिति में प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी राघोपुर एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी वैशाली का फोनिक आदेश समझ से परे एवं अनुचित है। यह आदेश शिक्षकों की ईमानदारी पर कालिख पोतने जैसा है। ज्ञात हो कि इससे पहले वैशाली जिला में राघोपुर प्रखंड के शिक्षकों के लिए यह आदेश जारी किया गया था कि सभी शिक्षक शिक्षक उपस्थिति पंजी एवं शिक्षकों का फोटो तथा बच्चों की संख्या सुबह 9:30 तक व्हाट्सएप के माध्यम से विभाग को प्रेषित करना सुनिश्चित करेंगे जिसका पालन अभी तक हेड मास्टर के द्वारा किया जा रहा है किंतु इस बाढ़ के समय में दूरदराज के शिक्षकों का डीईओ ऑफिस में आकर हाजिरी देना या किसी तुगलकी फरमान से कम नहीं है वैशाली के की नजदीकी जिले समस्तीपुर में बाढ़ ग्रसित स्कूलों एवं क्षेत्रों मैं जब तक बाहर है तब तक विद्यालय का पठन-पाठन कार्यक्रम स्थगित कर दिया गया है एवं शिक्षक भी छुट्टी पर चले गए हैं यही स्थिति मोतिहारी एवं अन्य बाढ़ ग्रस्त इलाकों की है किंतु वैशाली जिला में या तुगलकी फरमान जिला के अधिकारियों के द्वारा शोषण के उद्देश्य स

टीचर्स ऑफ बिहार के एक्सक्लूसिव कार्यक्रम लेट्स में शामिल हुए राष्ट्रीय पुरस्कार के लिए बिहार से चयनित शिक्षक सौरव सुमन एवं शिक्षिका निशी कुमारी।

Image
  राष्ट्रीय शिक्षक सम्मान 2022 में बिहार से चयनित शिक्षक सौरव सुमन, ललित नारायण लक्ष्मी नारायण प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय सुपौल एवं शिक्षिका, निशी कुमारी, उच्च माध्यमिक विद्यालय खुसरूपुर पटना की विजय गाथा को सार्वजनिक करने के उद्देश्य से बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार ने आयोजित किया एक्सक्लूसिव कार्यक्रम लेट्स टॉक। इस लेट्स टॉक कार्यक्रम को टीम टीचर्स ऑफ बिहार के सदस्य डॉ. विनोद कुमार उपाध्याय एवं खुशबू कुमारी ने मॉडरेट किया।                इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार 2022 के लिए बिहार से चयनित शिक्षक सौरभ सुमन एवं शिक्षिका निशी कुमारी ने राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार के बारे में विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने इस पुरस्कार के लिए अपने प्रयासों की भी विस्तृत जानकारी दी। उन्होंने कहा कि, सभी टीचर्स प्रतिभावान होते हैं, उन्हें अपने कार्यों को सहेजने और उसके डाक्यूमेंट्सन पर ज्यादा ध्यान देने की ओर काम करना चाहिए। टीचर्स ऑफ बिहार के फाउंडर पटना जिले के शिक्षक शिव कुमार ने कहा कि बिहार में ऐसा पहली बार हुआ है कि जो शिक्षक राष्ट्रपति पुरस्कार प्राप

टीचर्स ऑफ बिहार द्वारा द्वारा सवाल आपके,जवाब हमारे लेट्स टॉक कार्यक्रम आयोजित

Image
  एक्सक्लूसिव लाइव कार्यक्रम में चहक प्रशिक्षण पर शिक्षा विभाग के उच्च पदाधिकारियों से अपने सवालों को पूछने का मौका दिया गया। कार्यक्रम की शुरुआत शशिधर उज्जवल द्वारा किया गया। सवालों का जवाब देने किरण कुमारी अपर राज्य परियोजना निदेशक, बिहार शिक्षा परियोजना परिषद सय्यद अब्दुल मोइन पूर्व निदेशक, दूरस्थ शिक्षा, एससीईआरटीएवं कंसलटेंट यूनिसेफ बिहार विभा कुमारी राज्य समन्वयक,चहक प्रशिक्षण, एससीईआरटी इस कार्यक्रम को टीचर्स ऑफ बिहार के फेसबुक पेज पर आयोजित किया गया। इस कार्यक्रम को मोडरेट किया शशिधर उज्जवल ,चंचला तिवारी एवम केसव कुमार ने। केशव जी द्वारा मोइन सर से प्रधान शिक्षकों को भी प्रशिक्षण में शामिल किया गया है,इसके क्या कारण है? वैसे प्रधानाध्यापक जो प्रशिक्षण में कम रुचि दिखाते हैं और वे मानते हैं कि प्रधानाध्यापक का कार्य सिर्फ प्रशासनिक है उनके लिए आप क्या कहना चाहेंगे ?  उसी क्रम में चंचला तिवारी द्वारा सभी अतिथि पदाधिकारियों से वर्तमान समय में विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर चहक प्रशिक्षण को लेकर कई वीडियो वायरल किए जा रहे हैं इनमें से कई गतिविधियों को तोड़ मरोड़ कर सोशल मीडिय

चम्पारण के इतिहास मे पहली बार एक महिला शिक्षिका बैठी आमरण अनशन पर...

Image
  नव प्रशिक्षित शिक्षकों के विभिन्न मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना शाह आमरण अनशन ☆नवप्रशिक्षित शिक्षकों के एरियर सहित अन्य मांगो को लेकर 16 अगस्त से शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले अनिश्चितकालीन धरना-सह-आमरण अनशन चरखा पार्क पर शुरू मोतिहारी....शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक प्रमोद कुमार यादव के आह्वान पर शिक्षकों का विशाल समूह स्थानीय बंग्ला मध्य विद्यालय,मोतिहारी से चलकर जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया।    शिक्षकों का समूह डीईओ कार्यालय से पुनः प्रदर्शन करते हुए चरखा पार्क के समीप धरना-सह-आमरण अनशन मे तब्दील हो गई। शिक्षकों की जायज मांगों का नहीं हो रहा है निपटान      धरना को संबोधित करते हुए श्री प्रमोद कुमार यादव ने कहा कि निरंकुश,भ्रष्ट व हिटलरशाह जिला शिक्षा पदाधिकारी के कारण जिले मे पूरा शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गया है। जिला शिक्षा पदाधिकारी शिक्षकों के समस्या के निराकरण मे कम लेकिन राजनीति मे ज्यादा रूची ले रहे है।फलस्वरूप बार-बार शिक्षकों के समस्या समाधान हेतु मांग पत्र देने के बावजूद अठाइस सूत्री मांग मे से अबतक एक भी मांग का निराकरण डीईओ द

नियोजित शिक्षकों की विकास यात्रा एवं जनता का दृष्टिकोण

Image
 राजनीतिक दृष्टिकोण के मामले में बिहार के लोगों का जवाब नही , कहा जाता है कि यहा चाय की दुकान पर भी सटीक और तगरी राजनीति होती है। किंतु यहां के लोगों में दृष्टिकोण हर राजनीतिक दल को अपने-अपने नजरिए से देखने का एक अलग ही अंदाज है। और यह अपने दृष्टिकोण पर सदैव कायम रहते हैं चाहे वास्तविक स्थिति जो भी हो एक बार जो दृष्टिकोण इन्होंने अपना लिया फिर उसकी रक्षा ही उनका परम धर्म माना जाता है। इसीलिए बिहार को राजनीति करने में अब्बल माना गया यहां के लोग चाय की दुकान से राजनीति का जो निष्कर्ष निकाल दे 90% संभावना होती है कि वह सटीक हो किंतु आइए नजर डालते हैं इनके दृष्टिकोण और वास्तविक परिदृश्य पर उससे पहले पीपीपी मोड को समझते हैं पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप योजना 1995 में प्रस्तावित थी जिसे अटल बिहारी वाजपेई कि सरकार ने लागू किया एवं इसके तहत सरकारी कार्यों में सीधे तौर पर निजी करण को लाकर भारत को पूंजीवाद की तरफ धकेलने का श्री गणेश किया गया था इसका असर सिर्फ शिक्षा के क्षेत्र में ही नहीं हर क्षेत्रों में देखने को मिला । शिक्षा के क्षेत्र में जनता का व्यापक दृष्टिकोण किसी राजनीतिक मंडली में हमारा

टीचर्स ऑफ बिहार का सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कू ऐप हुआ मात्र दो महीने में ही 5000 के पार।

Image
बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार के विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म की तरह ही कू ऐप भी शिक्षकों में बेहद लोकप्रिय हो रहा है। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि इस स्वदेशी कू ऐप में विगत 2 माह में 5000 से भी अधिक बिहार के सरकारी विद्यालयों के शिक्षक जुड़कर अपने विद्यालयों में हो रहे नवाचारी गतिविधि को साझा कर रहे हैं।  यह जानकारी देते हुए टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश प्रवक्ता सह अररिया जिले के फारबिसगंज प्रखंड स्थित प्राथमिक विद्यालय छुरछुरिया के शिक्षक रंजेश कुमार ने कहा कि कू ऐप का इंटरफ़ेस भी ट्विटर के समान ही है, जिससे उपयोगकर्ता अपने पोस्ट को हैशटैग के साथ वर्गीकृत कर सकते हैं और अन्य उपयोगकर्ताओं को उल्लेख या उत्तरों में टैग कर सकते हैं। कू पीले और सफेद इंटरफेस का उपयोग करता है। 4 मई 2021 को, कू ने टॉक टू टाइप नामक एक नया फीचर पेश किया, जो अपने उपयोगकर्ताओं को ऐप के वॉयस असिस्टेंट के साथ एक पोस्ट बनाने की अनुमति देता है। स्रोत:–     उक्त जानकारी टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश मीडिया संयोजक मृत्युंजय ठाकुर ने दी।

बिहार के मुख्यमंत्री ने दिया इस्तीफा

 मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने काफी लंबे दिनों से चल रही खींचतान को विराम देते हुए आज राज्यपाल से मिलकर अपना इस्तीफा सौंप दिया है इस्तीफा सौंपने के तुरंत बाद ही वह राबड़ी देवी के आवास पर तेजस्वी यादव से मिलने पहुंच चुके हैं अब पूर्व मुख्यमंत्री नीतीश कुमार यादव के साथ मिलकर नई सरकार बनाएंगे। नई सरकार पहले की सरकार से सदन में काफी मजबूत होगी जहां पहले कि सरकार में भाजपा के विधायकों एवं हम के विधायकों के साथ इनकी संख्या 126 –27 के आसपास होती थी अब इनकी संख्या 164 रहेगी। सूत्रों के हवाले से खबर मिलती है कि तेजस्वी यादव नीतीश कुमार से गृह विभाग अपने पास रखने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं वहीं सरकार में कांग्रेश तथा लेफ्ट पार्टी अभी सहयोगी होगी अब नीतीश कुमार बिहार में महागठबंधन के सहयोगी दल होंगे। नीतीश कुमार का इतिहास रहा है राजनीतिक फेरबदल का गौरतलब है कि नीतीश कुमार भारत की राजनीति में पलटू राम के नाम से विख्यात है और अवसर का फायदा उठाना ही नहीं बहुत खूब आता है। नीतीश कुमार इससे पहले भी महागठबंधन के साथ 2015 में सरकार बना चुके थे लेकिन जीरो टॉलरेंस की अपनी नीति के कारण तेजस्वी यादव पर लगे आरो

नीतीश कुमार ने मांगा राज्यपाल से मिलने का समय 12:00 से 1:00 के बीच

 बिहार में राजनीतिक उठापटक के बीच खबर आ रही है कि बिहार के घोषित पलटू राम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार एक बार फिर से पलटी मारने की फिराक में लगे हैं। महागठबंधन के साथ मिलकर एक नई सरकार बनाने के प्रयास को सफल बनाने के लिए नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलने का समय मांगा है सूत्रों के हवाले से खबर आ रही है कि इस दौरान नीतीश कुमार अपना इस्तीफा राज्यपाल को सौंप सकते हैं और नई सरकार बनाने के लिए नीतीश कुमार महागठबंधन के साथ मिलकर नई सरकार बना सकते हैं। सत्ता के लिए नए साथी तलाशने का रहा है इतिहास बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का बिहार की सत्ता में बने रहने के लिए नए साथियों का तलाश एवं उनका समय के साथ उपयोग करने का भरपूर इतिहास रहा है। नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री का उम्मीदवार बनाए जाने से खफा होने के बाद 2014 में नीतीश कुमार ने बीजेपी से अपना 17 साल पुराना गठबंधन तोड़ कर जीतन राम मांझी को गद्दी सौंप दी थी तथा 2015 के विधानसभा में उसने राजद कांग्रेस के साथ महागठबंधन बनाकर चुनाव लड़ा एवं उसमें बड़ी जीत महागठबंधन की हुई किंतु सृजन घोटाले में फंसने के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इस घोटाले से अपन

बिहार में होगी राजनीतिक उठापटक

 बिहार में पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद उठापटक तेज हो गई है कयास लगाए जा रहे हैं कि नीतीश कुमार बीजेपी का दामन छोड़ सकती है इस बाबत अगर नितीश कुमार बीजेपी का साथ छोड़ते हैं तो नितीश कुमार का आरजेडी के साथ मिलकर महागठबंधन में शामिल होकर ने सरकार बनाने के विकल्प खुले हुए हैं किंतु समस्या यह है कि आरजेडी किसी हाल में यह नहीं चाहेगी कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हो उसकी मांग हमेशा से रही है कि तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाया जाए राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव का कहना है कि नीतीश कुमार के पेट में दांत है अतः या किसी के नहीं हो सकते हैं कभी भी किसी को काट सकते हैं इस सिद्धांत का अगर राज्य पालन करती है तो नीतीश क्या तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री का समर्थन देने के लिए तैयार होंगे। अगर नहीं तो बीजेपी के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है क्योंकि बीजेपी नाराज में कोई बड़ी पार्टी है ना ही उसे किसी दूसरे दलों का समर्थन होगा देखना है कि बिहार की राजनीति में क्या हो पाता है। बिहार में सियासी उलटफेर के मिल रहे संकेत: क्‍या नीतीश कुमार बनाएंगे नए गठबंधन की सरकार? पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसी

टीचर्स ऑफ बिहार ने फेसबुक लाइव के माध्यम से आयोजित किया एक्सक्लूसिव कार्यक्रम लेट्स टॉक सवाल आपके, जवाब हमारे

Image
  बिहार की सबसे बड़ी प्रोफेशनल लर्निंग कम्युनिटी टीचर्स ऑफ बिहार ने बिहार के सरकारी विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों एवं उनके द्वारा विद्यालयों में आयोजित नवाचारी गतिविधियों को एक मंच प्रदान करने के उद्देश्य से निर्मित अपने विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों की उपयोगिता, उसकी कार्यप्रणाली, टीम संरचना, शिक्षकों के सुझावों, शिकायतों एवं आगामी भविष्य की योजनाओं को लेकर रविवार को फेसबुक लाइव के माध्यम से एक्सक्लूसिव कार्यक्रम लेट्स टॉक सवाल आपके, जवाब हमारे आयोजित किया गया। इस एक्सक्लूसिव कार्यक्रम लेट्स टॉक सवाल आपके, जवाब हमारे को भागलपुर जिले की शिक्षिका खुशबू कुमारी एवं किशनगंज जिले की शिक्षिका कुमारी गुड्डी ने मॉडरेट किया।                  लेट्स टॉक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए फाउंडर शिव कुमार ने कहा कि टीचर्स ऑफ बिहार एक ऐसा मंच है जो शिक्षकों एवं शिक्षा से जुड़े सभी हिताधिकारियों के द्वारा किये जा रहे शैक्षिक प्रयासों को साझा करने, नवाचारों से सीखने और लागू करने का अवसर और पहचान प्रदान करता है। साथ ही यह शिक्षकों के लिए, शिक्षकों का एक ऐसा अभिनव मंच है जो शिक्षकों के सार्थक प्रयासों

रक्तदान महादान सेवा संस्थान ने उपलब्ध कराया जरूरतमंद को रक्त

Image
 रक्तदान महादान सेवा संस्थान की ओर से लगातार बिहार के वैशाली जिले से जरूरतमंदों को जरूरत पड़ने पर ब्लड की उपलब्धता कराई जा रही है। ज्ञात हो कि रक्तदान महादान सेवा संस्थान महुआ विधायक माननीय श्री मुकेश रोशन जी के सहयोग से एवं वैशाली जिले के युवा समाजसेवियों के द्वारा चलाया जाता है। जिसमें पटना के प्रथमा ब्लड बैंक के सहयोग से नौजवानों को रक्तदान के लिए प्रेरित किया जाता है एवं उनके द्वारा किया गया रक्तदान को जरूरतमंद व्यक्तियों तक पहुंचाया जाता है जिससे मानव सेना का कार्य बड़े व्यापक स्तर पर इन नौजवानों के द्वारा किया जा रहा है। रक्तदान महादान सेवा संस्थान के मुख्य उद्देश्य है किसी भी ऐसे लाचार एवं जरूरतमंद व्यक्ति को खून की कमी के कारण मरने नहीं दिया जाएगा यह उनके लिए खून की उपलब्धता ससमय करवाने के लिए कर्तव्य निष्ठ है। "रक्तदान जरूरी है, ये जन कल्याण की धुरी है!" संस्थान के द्वारा समय-समय पर विभिन्न जगहों से रक्तदान करवाया जाता है एवं युवाओं को रक्तदान के लिए प्रेरित किया जाता है तथा इनके द्वारा स्वास्थ्य ही धन है की भावना का प्रसार किया जाता है। इसी भाव के साथ कार्यकर्ताओं क

टीचर्स ऑफ बिहार के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म कुटुंब ऐप पर 10 लाख से भी अधिक प्रतिष्ठा प्वाइंट प्राप्त कर कुटुंब स्टार बने पूर्वी चंपारण जिले के शिक्षक मृत्युंजय ठाकुर।

Image
  कुटुंब एप के जरिए करते हैं नवाचारों एवं अनुभवों का आदान प्रदान टीचर्स ऑफ बिहार के भिन्न-भिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से बिहार के लाखों शिक्षक जुड़कर अपने विद्यालय में आयोजित होने वाले नवाचारी गतिविधि को प्रतिदिन साझा करते हैं। ऐसे तो टीचर्स ऑफ बिहार के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से लाखों शिक्षक जुड़े हुए हैं परंतु केवल 'कुटुंब ऐप' से बिहार ही भारत के 27 राज्यों के लगभग 60 हजार शिक्षक जुड़े हुए हैं। मात्र साल भर में जिस रफ्तार से शिक्षक कुटुंब ऐप से शिक्षक जुड़े है इससे लगता है कि वह दिन दूर नही जब लाखों शिक्षक इस ऐप से जुड़कर अपनी गतिविधि को पूरे भारत में साझा करेंगे। टीचर्स ऑफ बिहार के कुटुंब ऐप की लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता कि प्रति महीने लगभग 5 हजार से भी अधिक शिक्षक जुड़ रहे हैं। यह सब कीर्तिमान स्थापित करने में टीचर्स ऑफ बिहार के प्रदेश मीडिया संयोजक सह पूर्वी चंपारण जिले के पताही प्रखंड स्थित नवसृजित प्राथमिक विद्यालय खुटौना यादव टोला के शिक्षक सह प्रदेश मीडिया प्रभारी,बिहार प्रदेश प्रारंभिक शिक्षक संघ मृत्युंजय ठाकुर का महत्वपूर्ण योगदान रहा है।             

महुआ विधायक एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान महादान सेवा संस्थान के साथ मिलकर सामाजिक कार्य

 वैशाली जिला के बिदुपुर प्रखंड के मझौली ग्राम में महुआ विधायक माननीय श्री मुकेश रोशन , पूर्व वैशाली जिला परिषद अध्यक्ष माननीय श्री उमेश राय, भूतपूर्व मझौली मुखिया श्री सुरेंद्र चौधरी एवं अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं तथा रक्तदान महादान सेवा संस्थान के द्वारा मिलकर बड़े व्यापक स्तर पर रक्तदान कराया गया। साथ ही इलाके के मेधावी विद्यार्थियों जिन्होंने मैट्रिक एवं इंटर की परीक्षाओं में सफलता हासिल की है उन्हें सम्मान एवं पुरस्कार देकर उनके अंदर जीवन में सफल होने का हौसला जीवंत किया है। सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं रक्तदान महादान सेवा संस्थान के सदस्यों के द्वारा आयोजित इस समारोह में मुख्य अतिथि के तौर पर राजद से महुआ विधायक माननीय श्री मुकेश रोशन जी को आमंत्रित किया गया था। एवं माननीय श्री उमेश राय जी पूर्व जिला परिषद अध्यक्ष की उपस्थिति में मझौली के भूतपूर्व मुखिया श्री सुरेंद्र चौधरी एवं अन्य सामाजिक कार्यकर्ताओं तथा रक्तदान महादान सेवा संस्थान के सदस्यों के द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में जरूरतमंदों के लिए ब्लड की व्यवस्था के लिए रक्तदान कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। रक्तदान महादान सेवा संस्था

750 वेबसाइटों और 90 यूट्यूब चैनल लोगो और 20 सोशल मीडिया खातों पर कार्रवाई करते हुए किया गया प्रतिबंधित

 भारत में फेक न्यूज़ को बढ़ावा देने वाले वेबसाइट एवं यूट्यूब चैनल तथा सोशल साइटों के लिए बन रही है सरकार ने उन्हें प्रतिबंधित कर दीया है। केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने गुरुवार को कहा कि भारत सरकार ने वर्ष 2021 22 के दौरान फेक न्यूज फैलाने वाली उन सभी वेबसाइटों को चिन्हित किया है जिन्होंने सरकार विरोधी गतिविधियों तथा सामाजिक विरोधी कुल 750 वेबसाइटों , 90 यूट्यूब चैनलों और 20 सोशल मीडिया खातों पर कार्रवाई करते हुए उन्हें प्रतिबंधित किया । राज्यसभा में एक सवाल के जवाब में ठाकुर ने कहा कि ये कार्रवाई सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम 2000 की धारा 69 ए के तहत की गई है । मंत्री ने कहा कि सरकार ने फर्जी खबरें फैलाकर और इंटरनेट पर दुष्प्रचार कर देश की संप्रभुता के खिलाफ काम करने वाली एजेंसियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की है । यह चैनल फर्जी खबरें चलाकर सामाजिक ताने वाने को तोड़ने का काम करते हैं । ठाकुर ने कहा कि कोविड- 19 से संबंधित फर्जी खबरों को फैलने से रोकने के लिए 31 मार्च , 2020 को प्रेस सूचना ब्यूरो ( पीआइबी ) की फैक्ट चेकिंग यूनिट का एक सेल बनाया गया था । इसमें लोग महामारी से

सातवें चरण के लिए सेंट्रलाइज आवेदन लेने को होंगे नियमावली में बदलाव

Image
  दिनांक 14 साथ 2022 को शिक्षा विभाग की अहम बैठक में यह निर्णय लिया गया कि सातवें चरण की आगामी शिक्षक बहाली में अभ्यर्थियों को नियोजन इकाई बार दर-दर भटकने की जरूरत नहीं है उन्हें एक बार ऑनलाइन तरीके से आवेदन करना होगा इसके लिए विभाग सेंट्रलाइज तरीके से आवेदन लेने पर विचार कर रहा है इस पर अंतिम सहमति अभी नहीं बन पाई है परंतु यह माना जा रहा है कि अगले चरण की बहाली प्रक्रिया सेंट्रलाइज तरीके से ही कराई जाएगी। इसके लिए विभाग ने पूरी तैयारी कर रखी है। विभाग का कहना है कि शिक्षक अभ्यर्थियों की परेशानी को देखते हुए इस बार आगामी शिक्षक बहाली में इस तरह की प्रक्रिया को लागू कर उनकी समस्याओं को कम किया जा सकेगा तथा बहाली में होने वाली अनियमितताओं पर भी अंकुश लगाई जा सकती है। नियमावली में संशोधन को सरकार को भेजा जाएगा प्रस्ताव सातवें चरण के शिक्षक बहाली प्रक्रिया में सेंट्रलाइज आवेदन लेने के लिए नियमावली में बदलाव आवश्यक है क्योंकि अभी तक की शिक्षक बहाली की नियमावली 2020 प्रक्रिया में यह प्रावधान है कि नियोजन इकाई ही अपने स्तर पर मेधा सूची बनाएगी किंतु अभ्यर्थियों की हो रही परेशानी को मद्देनजर

आरडीडीई ने डीईओ कार्यालय के स्थापना संभाग के लिपिक को किया निलंबित

 सरकारी कार्य में लापरवाही दायित्व का निर्वहन उचित ढंग से नहीं करने उच्चाधिकारियों के आदेश की अवहेलना करने सरकारी अभिलेख गायब करने के प्रथम दृष्टया प्रमाणित आरोपों के आधार पर गोपालगंज डीईओ कार्यालय की स्थापना संभाग के लिपिक शैलेश प्रसाद को आरडीडीई अशोक कुमार मिश्रा ने निलंबित कर दिया है। लापरवाही के कारण किया गया निलंबित बताया जाता है कि गोपालगंज के डीईओ कार्यालय में पदस्थापित लिपिक शैलेश प्रसाद बहुत ही लापरवाही के साथ अपना कार्य कर रहे थे एवं सरकारी कार्यों में रुकावट पैदा कर रहे थे इन आरोपों के तहत उन्हें तत्काल प्रभाव से निलंबित कर विभागीय कार्यवाही के अधीन किया गया है यह कार्रवाई बिहार सरकार के सरकारी सेवक नियमावली के अंतर्गत की गई है। लिपिक शैलेश प्रसाद भरे ही लापरवाह एवं गैर जिम्मेदाराना तरीके से सरकारी कार्यों में रुकावट पैदा कर रहे थे एवं सरकारी अभिलेखों को गायब भी किया है जिस कारण उन्हें निलंबित किया गया। निलंबित लिपिक शैलेश प्रसाद एवं गोपालगंज स्थापना पदाधिकारी पर 34540 कोटी के शिक्षक अभ्यर्थियों को प्रताड़ित करने का है आरोप निलंबित लिपिक शैलेश प्रसाद तथा गोपालगंज स्थापना पदा