चम्पारण के इतिहास मे पहली बार एक महिला शिक्षिका बैठी आमरण अनशन पर...

 

नव प्रशिक्षित शिक्षकों के विभिन्न मांगों को लेकर अनिश्चितकालीन धरना शाह आमरण अनशन

☆नवप्रशिक्षित शिक्षकों के एरियर सहित अन्य मांगो को लेकर 16 अगस्त से शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के बैनर तले अनिश्चितकालीन धरना-सह-आमरण अनशन चरखा पार्क पर शुरू



मोतिहारी....शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के संयोजक प्रमोद कुमार यादव के आह्वान पर शिक्षकों का विशाल समूह स्थानीय बंग्ला मध्य विद्यालय,मोतिहारी से चलकर जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन किया।

   शिक्षकों का समूह डीईओ कार्यालय से पुनः प्रदर्शन करते हुए चरखा पार्क के समीप धरना-सह-आमरण अनशन मे तब्दील हो गई।

शिक्षकों की जायज मांगों का नहीं हो रहा है निपटान

     धरना को संबोधित करते हुए श्री प्रमोद कुमार यादव ने कहा कि निरंकुश,भ्रष्ट व हिटलरशाह जिला शिक्षा पदाधिकारी के कारण जिले मे पूरा शिक्षा व्यवस्था चौपट हो गया है।

जिला शिक्षा पदाधिकारी शिक्षकों के समस्या के निराकरण मे कम लेकिन राजनीति मे ज्यादा रूची ले रहे है।फलस्वरूप बार-बार शिक्षकों के समस्या समाधान हेतु मांग पत्र देने के बावजूद अठाइस सूत्री मांग मे से अबतक एक भी मांग का निराकरण डीईओ द्वारा नही किया जा सका है।



     अध्यक्ष मण्डल सदस्य सूर्यकांत पाठक ने संबोधित करते हुए कहा कि जिला शिक्षा पदाधिकारी के अड़ियल रवैया एवं हठधर्मिता के कारण वेतन मद मे पर्याप्त राशि रहते हुए भी नवप्रशिक्षित शिक्षकों का साढ़े तीन साल पुराना एरियर भुगतान रोक कर रखा गया है जो उनकी निरंकुशता को दर्शाता है।

       सारण जिला से चलकर चम्पारण की धरती पर पहुंचे श्री समरेन्द्र बहादुर सिंह ने हुंकार भरते हुए डीईओ को चेतावनी दिया कि अगर यथाशीघ्र सभी मांग पूरा नही हुआ तो हम चम्पारण की धरती से आपको खदेड़ने का काम करेंगे।

     अध्यक्ष मण्डल सदस्य अबूल कमर,मो.कैश,मनीष कुमार,पंकज कुमार सिंह,पिंकू कुमार,नईमुद्दीन सलफी,अभिषेक कुमार,दुर्गा पासवान ने संयुक्त रूप से कहा कि हमारी सभी मांगे जायज है लेकिन इस भ्रष्ट और तानाशाह डीईओ द्वारा के अबतक हमारे मांग को टालमटोल कर दरकिनार किया जा रहा जो शिक्षक विरोधी होने का संकेतक है।

भ्रष्टाचार में डूबा है शिक्षा विभाग

     मीडिया प्रभारी विनोद कुमार पाण्डेय,श्रीनिवास प्रसाद,मृत्युंजय ठाकुर,विवेक भूषण एवं अरूण ठाकुर ने कहा कि जिला शिक्षा पदाधिकारी कार्यालय भ्रष्टाचार के आतंक मे डूबा है।जब से यह जिला शिक्षा पदाधिकारी मोतिहारी मे पदस्थापित हुए है,पूरे कार्यालय के विधि व्यवस्था को चौपट कर दिए है।पूरे कार्यालय का विकेन्द्रीकरण अपने पर किए हुए है।इनका खौफ इतना है कि कोई भी जिला कार्यक्रम पदाधिकारी बिना इनके अनुमति से शिक्षको का कोई भी कार्य नही कर सकते।

     अठाईस सूत्री मांगो के समाधान एवं जिला शिक्षा पदाधिकारी द्वारा कोई रूची नही लेने के कारण शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति के छह सदस्य श्री सूर्यकांत पाठक,श्रीमति रीता गुप्ता,मो.कैश,संदीप सिंह एवं पंकज कुमार सिंह ने मांगे पूरी होने तक अनिश्चितकालीन अनशन पर बैठने की घोषणा की।



  कार्यक्रम में इनकी रही मौजूदगी 

   कार्यक्रम मे मुख्य रूप से श्रीनिवास प्रसाद,धर्मेन्द्र कुमार सिंह,महफुजूर रहमान,शशिभूषण प्रसाद,राजू कुमार,राजेश रजक,कमलाकांत सिंह,सरोज रजक,ओमप्रकाश यादव,अरबिन्द तिवारी,मो.अबरार,कैशर खान,अरबिन्द कुमार पाण्डेय,रामएकबाल सहनी,मो.तुफैल,दीपक यादव,सुनील यादव,मो.नौशाद,जौवाद हुसैन,संतोष तिवारी,नवनीत प्रकाश भारती,अजय सिंह,प्रभुशंकर यादव,भारतभूषण यादव,संजीव कुमार सिंह आदि सामिल हुए।

Comments

Popular posts from this blog

वैशाली जिला के अधिकारियों का तानाशाही फरमान

महुआ विधायक एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान महादान सेवा संस्थान के साथ मिलकर सामाजिक कार्य

टीचर्स ऑफ बिहार ने श्रीनिवास रामानुजन टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स 2022 से संबंधित विषय पर जागरूकता हेतु आयोजित किया सवाल आपके-जवाब हमारे एक्सक्लूसिव टॉक शो।