बिहार में होगी राजनीतिक उठापटक

 बिहार में पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के इस्तीफे के बाद उठापटक तेज हो गई है कयास लगाए जा रहे हैं कि नीतीश कुमार बीजेपी का दामन छोड़ सकती है इस बाबत अगर नितीश कुमार बीजेपी का साथ छोड़ते हैं तो नितीश कुमार का आरजेडी के साथ मिलकर महागठबंधन में शामिल होकर ने सरकार बनाने के विकल्प खुले हुए हैं किंतु समस्या यह है कि आरजेडी किसी हाल में यह नहीं चाहेगी कि नीतीश कुमार मुख्यमंत्री हो उसकी मांग हमेशा से रही है कि तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री बनाया जाए राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव का कहना है कि नीतीश कुमार के पेट में दांत है अतः या किसी के नहीं हो सकते हैं कभी भी किसी को काट सकते हैं इस सिद्धांत का अगर राज्य पालन करती है तो नीतीश क्या तेजस्वी यादव को मुख्यमंत्री का समर्थन देने के लिए तैयार होंगे। अगर नहीं तो बीजेपी के पास कोई दूसरा विकल्प नहीं है क्योंकि बीजेपी नाराज में कोई बड़ी पार्टी है ना ही उसे किसी दूसरे दलों का समर्थन होगा देखना है कि बिहार की राजनीति में क्या हो पाता है।


बिहार में सियासी उलटफेर के मिल रहे संकेत: क्‍या नीतीश कुमार बनाएंगे नए गठबंधन की सरकार?

पूर्व केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के जेडीयू से इस्‍तीफा के बाद जेडीयू ने नीतीश कुमार को क्षति पहुंचनाने के लिए आरसीपी सिंह को दूसरा चिराग पासवान (Chirag Paswan) बनाने की साजिश का बयान देकर नाम लिए बिना बीजेपी पर निशाना साधा। बिहार में बड़े सियासी उलटफेर के संकेत मिले हैं। सवाल यह उठता है कि क्‍या मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार आरजेडी व कांग्रेस के साथ गठबंधन की नई सरकार बनाएंगे? इसपर जेडीयू की तरफ से भी बड़े बयान आए हैं। 


पटना, आनलाइन डेस्‍क। बिहार की राजनीति में किसी बड़े भूचाल (Political Crisis in Bihar) की आशंका है। बताया जा रहा है कि राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) में सबकुछ ठीक नहीं है। एक तरफ मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने जनता दल यूनाइटेड (JDU) के सभी विधायकों की बैठक बुलाई है तो कांग्रेस (Congress) व राष्‍ट्रीय जनता दल (RJD) ने भी अपने विधायकाें को पटना में रहने का निर्देश दिया है। कांग्रेस के बिहार प्रभारी भक्‍त चरण दास पटना पहुंच चुके हैं। इस बीच नीतीश कुमार की कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी से बातचीत हुई है। उधर, भारतीय जनता पार्टी (BJP) के नेता भी इसपर कुछ बोलने को तैयार नहीं हैं। 




मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अपने सभी सांसदों और विधायकों को दो दिन में पटना पहुंचने का निर्देश दिया है। चर्चा है कि मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार बीजेपी से नाराज चल रहे हैं और बीजेपी व जेडीयू का गठबंधन टूट सकता है। हालांकि, जेडीयू के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष ललन सिंह कहते हैं कि एनडीए में सबकुछ ठीक है और सरकार बेहतर तरीके से चल रही है।


जेडीयू व आरजेडी-कांग्रेस में हो सकता है नया गठबंधन


ललन सिंह के बयान से हटकर चर्चाओं की बात करें तो जेडीयू व आरजेडी-कांग्रेस में नया गठबंधन हो सकता है। खास बात यह है कि जेडीयू के प्रवक्‍ता अरविंद निषाद ने इस चर्चा को खारिज करने के बदले यह कह दिया कि राजनीति संभावनाओं का खेल है, जब तक कुछ हो नहीं जाता कुछ नहीं कहा जा सकता है। जेडीयू सांसद रामप्रीत मंडल ने भी कहा कि कुछ भी हाे सकता है।



Comments

Popular posts from this blog

वैशाली जिला के अधिकारियों का तानाशाही फरमान

महुआ विधायक एवं सामाजिक कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान महादान सेवा संस्थान के साथ मिलकर सामाजिक कार्य

टीचर्स ऑफ बिहार ने श्रीनिवास रामानुजन टैलेंट सर्च टेस्ट इन मैथमेटिक्स 2022 से संबंधित विषय पर जागरूकता हेतु आयोजित किया सवाल आपके-जवाब हमारे एक्सक्लूसिव टॉक शो।